जाल साज पूर्व रजिस्ट्रार सौरभ सिंह को एस आई टी ने किया गिरफ्तार

जाल साज पूर्व रजिस्ट्रार सौरभ सिंह को एस आई टी ने किया गिरफ्तार

गोण्डा।। जनपद गोण्डा में उपनिबंधक कार्यालय में रजिस्ट्रार के पद पर रहते हुए सौरभ सिंह ने मानकों के विपरीत दो दर्जन से अधिक लोगो की फर्जी दस्तावेज व वसीयतनामा तैयार करके रजिस्ट्री किया था। इस का खुलासा पुलिस उपमहानिरीक्षक के आदेश पर जब जाँच शुरू हुई तब निकल कर सामने आया। सौरभ सिंह पूर्व रजिस्ट्रार अपने जाल साज अधिवक्ता बृजेश अवस्थी के साथ मिलकर फर्जी दस्तावेज घर पर ही तैयार करा लेता था। दूसरे जनपदों का भी तमाम फर्जी वसीयतनामा किया था। तमाम फर्जी वसीयतनामा मृत्यु के एक दो दिनों पूर्व ही तैयार किया गया है। जिस का रजिस्ट्री सौरभ सिंह ने किया है। नियमो की अनदेखी कर के फर्जी बौनामा और वसीयतनामा घर पर ही किया था। तमाम गरीब लोगों पर दबाओ बना कर बौनामा करा लिया था। डी आई जी के आदेश पर फर्जी बैनामा वसीयतनामा का मुकदमा दर्ज किया गया था। जिस की जांच हेतु एस आई टी टीम का गठन किया गया। एस आई टी के उप निरीक्षक डिग्री प्रसाद गौतम, हेड कांस्टेबल अफजल और कांस्टेबल पीयूष गोस्वामी ने मुखबिर खास की सूचना पर पूर्व रजिस्ट्रार सौरभ सिंह पुत्र दया शंकर सिंह निवासी धुसवा मनका पुर को अंबेडकर चौराहे के पास से गिरफ्तार किया है। इन के ऊपर जिले के विभन्न थानों पर दो दर्जन के करीब जाल साज का मुकदमा दर्ज कराया गया था