अलविदा जुम्मे की नमाज में मांगी अमन-चैन की दुआ

 

गोण्डा के जमा मस्जिद मे माह-ए-रमजान के आखिरी शुक्रवार को मुस्लिम समुदाय के लोगों ने मस्जिदों में अलविदा की नमाज अदा की। गोण्डा के जमा मस्जिद में अल्ला की इबादत के लिए रोजेदारों ने सिर झुकाया। रोजेदारों ने मुल्क की बेहतरी और अमन चैन के लिए दुआ मांगी।
माहे रमजान में रमजान की अलविदा जुमा पर अल्लाह की इबादत में नमाज पढ़ना बेहद खास माना जाता है। मान्यता है कि अलविदा जुमा पर नमाज पढ़ने वालों की अल्लाह कामना पूरी करता है।

मुस्लिम समाज के लोग ईद को लेकर खासी तैयारी करते हैं। ईद पर घरों में विशेष खानपान के इंतजाम के साथ ही नए कपड़े भी बनवाते हैं। ईद के लिए सिवइयां समेत अन्य चीजों की खरीदारी की जाती है

रमजान महीने के अंतिम शुक्रवार को जामा मस्जिद में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने अलविदा नमाज अदा की। मुस्लिम भाइयों ने अल्लाह से देश में अमन और चैन कायम रखने की दुआ मांगी। शुक्रवार को मौलाना ने रोजेदारों को अलविदा की नमाज पढ़ाई। वहां पर डॉक्टर रिजवान , जाकिर अली, हबीब  फफ्ते मोहम्मद, सदर मुस्ताक अहमद , मंसूर आलम ,मुमताज,नासिर, कमाल , अब्दुल अहद खान, इम्तियाज अहमद अंसारी , मास्टर मैनुद्दीन अहमद , नफीस अहमद मजूद रहे।