पूर्व मंत्री योगेश प्रताप सिंह ने कोतवाल कर्नलगंज सुधीर सिंह को बताया भाजपा का एजेंट

कोतवाल के ऊपर गंभीर आरोप लगाते हुए सपा प्रत्याशी राजिया खातून ने आला अधिकारियों को भेजा पत्र।

कोतवाल करनैलगंज का तत्काल स्थानांतरण किये जाने और निष्पक्ष चुनाव संपन्न कराये जाने की मांग।

कर्नलगंज, गोण्डा। पूर्व मंत्री योगेश प्रताप सिंह ने कोतवाल कर्नलगंज सुधीर सिंह को भाजपा का एजेंट बताते हुए कहा कि पांचवीं बार नगर पालिका कर्नलगंज से सपा प्रत्याशी की जीत से परेशान लोग समर्थकों का नाजायज उत्पीड़न करा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोतवाल सुधीर कुमार सिंह सत्ता पक्ष के इशारे पर कार्य कर रहे हैं और लोगों को सपा के पक्ष में मतदान ना करने हेतु नाजायज दबाव बनाकर डरा धमका रहे हैं। इसी के साथ ही भय दिखाते हुए लगातार सपा कार्यकर्ताओं व समर्थकों का नियमित रूप से उत्पीड़न किया जा रहा है। इसी क्रम में सपा प्रत्याशी रजिया खातून ने कोतवाल सुधीर सिंह के ऊपर गंभीर आरोप लगाते हुऐ आला अधिकारियों को पत्र भेजकर कोतवाल करनैलगंज का तत्काल स्थानांतरण किये जाने और निष्पक्ष चुनाव संपन्न कराये जाने की मांग की है।

नगर पालिका परिषद कर्नलगंज से सपा प्रत्याशी राजिया खातून पत्नी शमीम अहमद अच्छन ने मंडलायुक्त, उप महानिरीक्षक देवीपाटन मंडल,जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक गोंडा को पत्र भेजकर करनैलगंज कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक के ऊपर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि यह भाजपा का एजेंट बनकर कार्य कर रहे हैं और समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं को धमकी दे रहे हैं। वहीं पूर्व में भी हमारे समर्थक के ऊपर फर्जी आचार संहिता उल्लंघन का मुकदमा लिख दिया है। यही नहीं प्रधान करूवा को थाने में बुलाकर धमकाया गया है कि सपा की मदद करोगे तो तुम्हें जेल भेज दूंगा। गुरुवार की रात्रि जनसंपर्क के दौरान लगभग 8 बजे उनके पति की गाड़ी कार्यालय के सामने खड़ी थी जिसे प्रभारी निरीक्षक सुधीर सिंह ने अपने दल बल के साथ पहुंचकर और जबरदस्ती तरीके से गाड़ी को थाने ले जाकर सीज कर दिया। जबकि गाड़ी के अंदर कोई भी चुनाव प्रचार संबंधित सामग्री नहीं थी। कोतवाल द्वारा शासन सत्ता का नाजायज दबाव बनाकर भय दिखाते हुए लगातार समर्थकों व सपा कार्यकर्ताओं को नियमित रूप से प्रताड़ित किया जा रहा है। उन्होंने आला अधिकारियों से कोतवाल करनैलगंज का तत्काल स्थानांतरण किये जाने और निष्पक्ष चुनाव संपन्न कराये जाने की मांग की है। इसी क्रम में प्रेस वार्ता के दौरान पूर्व मंत्री योगेश प्रताप सिंह ने प्रशासन पर कई गंभीर आरोप लगाते हुए उन्होंने पुलिस पर समाजवादी पार्टी प्रत्याशी को परेशान करने के साथ ही उसका उत्पीड़न करने का गंभीर आरोप लगाया। पूर्व मंत्री ने कहा कि हम मामले की चुनाव आयोग से शिकायत करेंगे। वहीं पूर्व चेयरमैन शमीम अहमद अच्छन ने कहा कि कानून व्यवस्था आज की तारीख में सिर्फ सत्ताधारी दल की गुलाम बनी हुई है। पुलिस का प्रयोग भाजपा के लोग कर रहे हैं और उसमें क्षेत्र के माननीय विधायक जी का बहुत बड़ा रोल है। कहा कि जो अपने बाप का सम्मान नहीं करेगा वह दूसरों के बाप का सम्मान नहीं कर पायेगा। इसी के साथ उन्होंने कहा कि चुनाव हमारे पक्ष में है,जनता मेरे साथ है और मतदाता फैसला करेंगे।