बार एसोसिएशन ने राज्यपाल को संबोधित एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

कर्नलगंज, गोण्डा। बीते सोमवार को तहसील क्षेत्र के निवासी युवा अधिवक्ता जयप्रकाश यादव की मसौली बाराबंकी में संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत पर परिजनों व क्षेत्रवासियों द्वारा गंभीर सवाल खड़ा करने के साथ ही अब अधिवक्ता संघ ने भी उक्त घटना को मौत की साजिश करार देते हुए रोष प्रकट कर अपने साथी अधिवक्ता साथी की मौत की न्यायिक निष्पक्ष जाँच कराते हुए रिपोर्ट तलब कर दोषी व्यक्तियों के विरुद्ध कार्यवाही करने और मृतक के आश्रितों को सरकार द्वारा पचास लाख रुपये की मुआवजा धनराशि दिलाने की मांग की है।

बार एसोसिएशन करनैलगंज गोंडा के अध्यक्ष व महामंत्री की अध्यक्षता में एक आपात बैठक बुधवार को तहसील कर्नलगंज में अधिवक्ता साथियों की उपस्थिति में की गई। तत्पश्चात शुक्रवार को माननीय राज्यपाल उत्तर प्रदेश को संबोधित उपजिलाधिकारी को सौंपे गये ज्ञापन में कहा गया है कि स्थानीय तहसील करनैलगंज के ग्राम कैथौली के युवा अधिवक्ता श्री जयप्रकाश यादव की संदेहास्पद स्थिति में मृत्यु हुई है जिसमें दुर्घटना को मौत का कारण बताया गया है,जबकि उपरोक्त अधिवक्ता साथी की मौत की साजिश करके दुर्घटना कराई गई है। जिसकी न्यायिक निष्पक्ष रुप से जांच कराकर रिपोर्ट तलब की जाए और दोषी व्यक्तियों के विरुद्ध कार्रवाई कराई जाए। अधिवक्ताओं ने कहा कि चूंकि मृतक हमारे तहसील के मूल निवासी थे इसलिए हम सबका यह दायित्व है कि मौत का कारण स्पष्ट होना चाहिए और मृतक के आश्रितों को सरकार द्वारा 50 लाख रुपये की मुआवजा धनराशि दिलाई जाय। इस मौके पर अध्यक्ष गोपाल जी तिवारी, महामंत्री ओमप्रकाश यादव,अधिवक्ता रामबाबू पाण्डेय,कर्मचंद्र मिश्रा, त्रिपुरारी नाथ चौबे, जीतलाल गोस्वामी सहित अनेकों अधिवक्ता गण मौजूद रहे।