चौपाल लगाकर डीएम ने सुनी ग्रामीणों की समस्याएं।

प्रशांत कुमार श्रीवास्तव की रिपोर्ट

ग्राम पंचायत बनघुसरा में ग्राम पंचायत सचिव तथा लक्ष्मणपुर जाट में एएनएम को निलंबित करने के निर्देश-डीम

 

सफाई ना होने पर सफाई कर्मी हटाने के लिए निर्देश

काम ना करने पर पंचायत सहायक को हटाने के निर्देश-डीएम

गोण्डा डीएम नेहा शर्मा ने मंगलवार को झंझरी ब्लाक की 6 ग्राम पंचायतों में ग्रामीणों के साथ चौपाल लगाकर गांव में हो रहे विकास कार्यों की जमीनी हकीकत को जाना। डीएम ने गांव में विकास कार्यों का सत्यापन भी कराया तथा जहां खामियां मिली, उन्हें तुरंत दुरूस्त कराए जाने के निर्देश दिए। चौपाल के दौरान ग्रामीणों ने कई समस्याएं डीएम के समक्ष रखी जिस पर डीएम ने संबंधित अधिकारियों को निस्तारण करने के कड़े निर्देश दिए। डीएम ने गांव जानकी नगर, परेड सरकार, चिश्तीपुर, लक्ष्मणपुर जाट, बनघुसरा और रामनगर तरहर आदि गांवों में चौपाल लगाकर गांव में कराए गए विकास कार्यों की समीक्षा के साथ-साथ ग्रामीणों की समस्याएं भी सुनी। डीएम ने ग्रामीणों से बात कर गांव में हो रहे विकास कार्यों की हकीकत को जाना और जहां खामियां मिली उन्हें तुरंत दुरूस्त करने के निर्देश दिए। इस मौके पर डीएम ने गांव में संपर्क मार्ग, विद्युत व्यवस्था, ग्राम निधि से कराए गए कार्य, सभी प्रकार की पेंशन, मनरेगा, समूह, आवास, पंचायत सहायक के माध्यम से आयुष्मान कार्ड व अन्य पेंशन संबंधी कार्यों का सत्यापन कराते हुए लाभार्थियों को योजनाओं का लाभ देने के भी निर्देश दिए। डीएम ने विकास कार्योें की समीक्षा करते हुए गांव में खराब हैंडपंपों को ठीक कराने, स्वच्छ भारत मिशन के तहत बन रहे शौचालय, पात्र लाभार्थियों की पेंशन बनवाने व जो अन्य कार्य होने हैं, उन्हें जल्द पूरा करने की भी हिदायत दी। जिलाधिकारी के द्वारा कहा गया कि अगर कार्यों का गुणवत्तापूर्ण निस्तारण नहीं होगा तो लापरवाही मानते हुए उन अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

ग्राम पंचायतों में पहुंचकर सुनी ग्रामीणों की समस्याएं

ग्राम पंचायत लक्ष्मणपुर जाट में चौपाल के दौरान ग्रामीणों द्वारा एएनएम, आशा के न आने की शिकायत की गई जिस पर डीएम ने सीएमओ को फटकार लगाते हुए एएनएम को निलंबित करने के निर्देश दिए हैं, साथ ही तत्काल ग्राम पंचायत में एएनएम सहित अन्य स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों की तैनाती के निर्देश दिए हैं। ग्राम पंचायत परेडसरकार में चौपाल के दौरान ग्रामीणों के द्वारा सफाई कर्मी द्वारा सफाई ना किए जाने की शिकायत की गई जिस पर जिलाधिकारी ने डीपीआरओ को तत्काल सफाई कर्मी का स्थानांतरण कर अन्य सफाईकर्मी की नियुक्ति करने के निर्देश दिये। जानकी नगर में चौपाल में सुनवाई के दौरान ग्रामीणों ने मजरा रानीपुरवा में जलभराव की समस्या उठाई। ग्रामीणों ने डीएम को बताया कि जलभराव हो जाने पर आने-जाने में काफी अधिक परेशानी होते हैं जिस पर डीएम ने संबंधित अधिकारी को जलभराव की समस्या को स्थान करने के निर्देश दिये। इसके साथ ही वहां पर 32 स्वयं सहायता समूह की समीक्षा की गई, तो सामने आया कि स्वयं सहायता समूह के द्वारा ना तो कार्य किया गया है और ना ही इसके संबंध में ग्राम पंचायतों में लोगों को जागरूक किया गया जिस पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए जिला विकास अधिकारी से स्पष्टीकरण मांगा और बीडीओ को जलभराव की समस्या खत्म कराने के निर्देश दिए। चिस्तीपुर में ग्रामीणों ने एक ट्रांसफार्मर के द्वारा पूरे गांव में विद्युत सप्लाई न हो पाने की शिकायत की जिसे संज्ञान में लेकर जिलाधिकारी ने विद्युत विभाग के अधिकारियों को गांव में तत्काल दूसरा ट्रांसफार्मर लगाने के निर्देश दिए। ग्राम पंचायत बनघुसरा में पंचायत सहायक के द्वारा कार्य ना किए जाने कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए ग्राम पंचायत अधिकारी को निलंबित करने के निर्देश दिए हैं साथ ही पंचायत सहायक को हटाने के लिए खंड विकास अधिकारी झंझरी को निर्देश दिए हैं। इसके अलावा 21 जून को पंचायत भवन में कैंप लगाकर गांव की सभी समस्याओं का समाधान करने के निर्देश दिए हैं।
इस अवसर पर उप जिलाधिकारी सदर गोंडा कुलदीप सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ रश्मि वर्मा, अर्थ एवं सांख्यिकी अधिकारी अरुण कुमार सिंह, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अखिलेश प्रताप सिंह, जिला पंचायत राज अधिकारी लालजी दुबे, एक्सईएएन जल निगम, खंड विकास अधिकारी झंझरी, जिला कार्यक्रम अधिकारी धर्मेंद्र गौतम सहित सभी संबंधित विभाग के जनपद स्तरीय अधिकारीगण उपस्थित रहे।