जिलाधिकारी की बड़ी कार्रवाई, कोटेदार समेत दो के खिलाफ एफआईआर दर्ज

प्रशांत श्रीवास्तव बंटी की रिपोर्ट

जांच में नौ बोरी चावल स्टाक में अधिक पाया गया ।

कार्डधारकों को निर्धारित मात्रा से कम अनाज वितरित किए जाने की भी हुई पुष्टि ।

गोण्डा खाद्यान्न की कालाबाजारी और घटतौली करने वालों पर जिलाधिकारी नेहा शर्मा ने बड़ी कार्रवाई की है। खाद्यान्न की कालाबाजारी का प्रकरण संज्ञान में आने पर जिलाधिकारी के आदेश पर शुरू हुई जांच में गड़बड़झाले की पुष्टि हुई। जिसके बाद थाना खोडारे में कोटेदार समेत दो के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई।
जानकारी के मुताबिक पांच सितम्बर की रात को नान्हू नगर चौराहे पर मुकेश कुमार नामक व्यक्ति को पुलिस ने पकड़ा। जिसके पास से पुलिस ने चावल की दो बोरी बरामद कीं। बरामद चावल की यह बोरियां सरकारी प्रतीत हो रही थीं। जिसकी जानकारी होने पर जिलाधिकारी नेहा शर्मा ने हरकत में आते हुए अधिकारियों को तत्काल जांच के निर्देश दिए। जांच में यह अनाज खाद्य एवं रसद विभाग का होने की पुष्टि हुई।
दरअसल, पूछताछ के दौरान मुकेश कुमार पुत्र राम नरेश निवासी ग्राम पंचायत केशव नगर, बभनजोत मनकापुर ने बताया कि उसने यह चावल सुकरौली निवासी सनाउल्लाह से 1000 रुपये प्रति बोरी की दर पर खरीदा है। मुकेश की सूचना पर कोटेदार तहिरुनिशा पत्नी सनाउल्लाह की सुकरौली स्थित उचित दर की दुकान का जिला स्तरीय अधिकारियों द्वारा आकस्मिक निरीक्षण किया गया। जांच में नौ बोरी चावल स्टाक में अधिक पाया गया। इतना ही नहीं जांच में कार्डधारकों को निर्धारित मात्रा से कम मात्रा का वितरण किए जाने की बात भी पुष्ट हुई। यह पूरी रिपोर्ट जिलाधिकारी को भेजी गई। जिलाधिकारी ने मामले को बेहद गंभीरता से लेते हुए एफआईआर के आदेश दिए। जिस पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने थाना खोडारे में कोटेदार तहिरुनिशा निवासी सुकरौली व क्रेता मुकेश कुमार के खिलाफ विधि संगत धाराओं में मुकदमा दर्ज किया।